Free Exams Preparation | Study Material pdf download

Latest Updates

[तत्सम और तदभव शब्द] हिन्दी व्याकरण के तत्सम और तदभव शब्द | Tatsam Tadbhav pdf

[तत्सम और तदभव शब्द] हिन्दी व्याकरण के तत्सम और तदभव शब्द | Tatsam Tadbhav pdf

हिन्दी व्याकरण के तत्सम और तदभव की PDF सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए, UP TET, CTET and Super TET
[तत्सम और तदभव शब्द] हिन्दी व्याकरण के तत्सम और तदभव शब्द | Tatsam Tadbhav pdf
तत्सम और तदभव शब्द

Most Important tatsam tadbhav deshaj aur videshi shabd of Hindi for Competitive Examination

हम हिंदी महत्त्वपूर्ण तत्सम और तदभव की पीडीएफ उपलब्ध करा रहे है। प्रतियोगी परीक्षा के लिए Tatsam Tadbhav Shabd हिंदी व्याकरण में सबसे महत्वपूर्ण Topic है।

परिभाषा

आज हिन्दी के शब्द भण्डार में लगभग 50% शब्द ऐसे हैं जो सीधे संस्कृत से आए हैं या उनके विकृत रूप (परिवर्तित रूप) ग्रहण कर लिए गए हैं। शब्दों के उक्त दो वर्गों को क्रमशः तत्सम और तदभव शब्द कहा जाता है।

हिन्दी का शब्द भण्डार अत्यन्त विस्तृत है। इसमें तत्सम और तदभव की कुछ जानकारी निम्न प्रकार से है।

तत्सम-

वे शब्द जो संस्कृत से हिन्दी में बिना किसी ध्वनि परिवर्तन के ज्यों-त्यों आ गए हैं, उन्हें तत्सम शब्द कहते हैं।
For Example: राजा, अग्नि, इंद्र, धनु आदि।

तदभव-

वे शब्द जो संस्कृत की परम्परा से ध्वनि परिवर्तनों के साथ परिवर्तित रूप में हिन्दी को प्राप्त हुए हैं। इस वर्ग में आते हैं।
For Example: आँसू (अश्रु), ऊँट (उष्ट्र), धीरज (धैर्य), मामा (मातुल)। यहाँ कोष्ठक में दिए शब्दों से ये शब्द क्रमशः विकसित हुए हैं।

संकर शब्द-

जिन शब्दों की रचना हिन्दी और अंग्रेजी अथवा हिन्दी और अरबी, फारसी, पुर्तगाली, या किन्हीं अन्य भाषा के शब्दों या शब्दांशों के संयोग से की जाती है, उसको संकर शब्द कहा जाता है
For Example:- टिकटघर, मिठाईवाला, सिंगार टेबुल, लाज-लिहाज, धन-दौलत, हल-धर, लाट-साहब, फैशन-परस्त, मेमसाहब, बदतमीज, राजमहल, तुरुपचाल, जिलाधिकारी आदि।

विदेशी शब्द-

जो विदेशी भारत आए, वे अपने साथ अपनी भाषा भी लाए। उनके सम्पर्क में आने के फलस्वरूप उनकी भाषओं के अनेक शब्द ग्रहण कर लिए गए और उपयोगिता के आधार पर वे शब्द हिन्दी की स्थायी सम्पत्ति बन गए हैं

अरबी-

किताब, एहसान, खारिज, जिला, तहसील, नकद, अल्लाह, असर, इजलास, इरादा, इशारा, ईमान, ईद, बालिग, बुनियाद, मजहब, मुसलमान, मुल्ला, साफ, हकीम, हलवाई, हलुआ, कढाई, महल आदि।

फारसी-

चालाक, जलेबी, जुलाहा, जुकाम, तेज, आराम, आफत, आबरू, आमदनी, आवारा, आसमान, आइना, उस्ताद, कारीगर, कुरता, खुश, गंदा, गवाह, दफ्तर, दर्जी, दवा, दारू, दरवाजा,दीवार, दलाल आदि।

तुर्की-

चम्मच, तोप, तोशक, दरोगा, बारूद, बहादुर, लाश, सराय, उर्दू, कूच, काबू, कुली, कैंची, खंजर, चाकू, चिक, चेचक आदि।

डच-

तुरूप, बम, ताँगा।

रूसी-

जार, बोदका, स्पुतनिक।

पुर्तगाली-

अनानास, आलपीन, कोको, गमला, गिरजा, चाबी, नीलाम, पपीता, पादरी, बम्बा, बाल्टी आदि।

फ्रेंच-

अंग्रेज, कारतूस, कूपन, फ्रांसीसी।

अंग्रेजी-

बोलचाल में अंग्रेजी के सर्वाधिक शब्द सहज भाव से ग्रहण कर लिए गए हैं
For Example: स्कूल, मास्टर, स्टेशन, रेल, प्लेटफार्म, टिकट

देशज शब्द-

हिन्दी के वे शब्द जिनकी उत्पत्ति (व्युत्पत्ति) के संदर्भ में कुछ निर्णय नहीं लिया जा सका है, देशज शब्द कहलाते हैं। देशज वे शब्द हैं जिनका स्रोत अज्ञात रहता है।
उदाहरण :
जूता, कटोरा, कठौता, भीत, कटौरा, लडुआ, अचक्क

हिन्दी व्याकरण के तत्सम और तदभव शब्द | Tatsam Tadbhav pdf

👇👇👇👇👇👇👇 

Click here 

हिन्दी व्याकरण के मुहावरे की PDF | Hindi Muhavare List

Click here